D.Ed क्या है | D.Ed कोर्स कैसे करें। योग्यता ,एग्जाम ,करियर JBT, D.EI.Ed, N.T.T नये नियम 2022-23

Spread the love

D.Ed क्या है  पूरी जानकारी यहां से करें प्राप्त : डीएड से क्या होता है ; कैसे करें ; योग्यता ; फीस ; सब्जेक्ट्स लिस्ट आदि।

 

 तुम गुरु पर ध्यान दो , गुरु तुम्हे ज्ञान देगा।

तुम गुरु को सम्मान दो , गुरु तुम्हे ऊंची उड़ान देगा।

मैं शिक्षक बनकर शिक्षा का एक दीप जलाना चाहता हूँ।

 

 

 

 

D.Ed क्या है ?

डीएड (Diploma in Education) एक प्रमाण पत्र स्तर (Certificate Level Training Course) का प्रशिक्षण कोर्स है, जिसमें आपको शिक्षक बनने की Training दी जाती हैं। यह कोर्स करने के बाद आप कक्षा 1 से 8 के विद्यार्थियों को पढ़ाने के लिए सक्षम हो जाते हैं।

 

 D.Ed कौन कर सकता है।

डी.एड कोर्स में प्रवेश के लिए आवश्यक योग्यता किसी मान्यता प्राप्त बोर्ड या विश्वविद्यालय से आपके 10 + 2 में कुल 50% या उससे अधिक अंक होना चाहिए।

SC / ST और शारीरिक रूप से अक्षम श्रेणियों के लिए 5% की छूट दी जाती है।

 

D.EI.Ed कोर्स क्या है ?

डीएलएड की फुल फॉर्म डिप्लोमा इन एलीमेंटरी एजुकेशन होती है। ये दो बर्ष का टीचिंग में डिप्लोमा कोर्स होता है, जिसमे 4 सेमेस्टर होते हैं।

D.El.Ed. course उन कैंडिडेट के लिए अच्छा कैरियर के विकल्प है, जो लोग टीचर बनना चाहते हैं या टीचिंग में प्रोफेशनल कैरियर बनाना चाहते हैं। यह बहुत ही पॉपुलर टीचर सेक्टर का डिप्लोमा कोर्स है। ज्यादातर स्टूडेंट्स डीएलएड कोर्स को प्राथमिकता देते हैं, क्योंकि इसमे कैरियर काफी ब्राइट नजर आता है।

 

D.Ed कैसे करें?

• D.Ed कोर्स करना चाहते हैं, तो आपको किसी भी मान्यता प्राप्त हाई स्कूल से सबसे पहले 12वीं कक्षा पास करनी होगी.

• 12वीं कक्षा में कम से कम 50% अंक प्राप्त करने होंगे.

• 12वीं कक्षा उत्तीर्ण करने के बाद D.Ed कोर्स करना चाहते हैं, तो आपको कॉलेज में एडमिशन लेने हेतु एंट्रेंस एग्जाम देना होगा

 

D.Ed कहाँ से करें।

डीएड कोर्स आप सरकारी या प्राइवेट दोनों कॉलेज से कर सकते है। यदि आप सरकारी कॉलेज से यह कोर्स करते है तो कम फीस में आप यह कोर्स पूरा कर सकते है।

 

 

D.Ed डिप्लोमा है या डिग्री

D.Ed का पूरा नाम “Diploma In Education” होता है। इस डीएड कोर्स (D.Ed Course) को आप 12th के बाद कर सकते है।

 

डिस्टेंस से D.Ed कैसे करें।

कुछ कॉलेज डिस्टेंस लर्निंग में डी.एड डिग्री प्रदान करते हैं। यह उन लोगों के लिए सुविधाजनक है जो या तो कुछ समस्याओं के कारण नियमित कक्षाओं में भाग लेने में सक्षम नहीं हैं या जॉब कर रहे हैं।

 

 

D.El.Ed और BTC में क्या अंतर है?

उत्तर प्रदेश ने अब दो वर्षीय बेसिक टीचिंग सर्टिफिकेट (बीटीसी) कोर्स का नाम डिप्लोमा इन एलीमेंटरी एजुकेशन (डीएलएड) कर दिया है। इस तरह बीटीसी और डीएलएड में कोई अंतर नही है। पहले कभी डीएलएड को ही बीटीसी के नाम से जाना जाता था। अब बस इसका नाम बदल दिया गया है।

 

 

D.Ed की तैयारी कैसे करें।

D.Ed प्रवेश परीक्षा में मुख्य रूप से नीचे दिए गए 4 खंड शामिल हैं:-

• सामान्य ज्ञान
• मानसिक योग्यता
• अंग्रेजी योग्यता
• शिक्षण योग्यता
• मात्रात्मक रूझान

 

 

डीएड प्रवेश परीक्षा के लिए अच्छी तरह से तैयारी करने के लिए ध्यान रखें:-

1.प्रवेश परीक्षा के पाठ्यक्रम को अच्छी तरह से समझें।

2.परीक्षा पैटर्न पर नजर रखने के लिए पिछले साल के प्रश्न पत्र या मॉडल टेस्ट पेपर का अभ्यास करें।

3.शिक्षण योग्यता के भाग के लिए अच्छी तरह से तैयार करें।

4.बहुत अधिक तनाव न करें, क्योंकि परीक्षा के प्रश्न-पत्र हल करना बहुत आसान है।

5. 12th का एग्जाम देने के बाद इसकी तैयारी में लग जाए।

 

JBT कोर्स क्या है?

JBT एक डिप्लोमा स्तर का शैक्षिक पाठ्यक्रम है। यह शिक्षक /शिक्षिका प्रशिक्षण कार्यक्रमों में से एक है।“डिप्लोमा इन एजुकेशन” या JBT जूनियर बेसिक ट्रेनिंग के कोर्स के रूप में जाना जाता है। डिप्लोमा कोर्स की अवधि दो वर्ष की होती है। कुछ कॉलेजों में, प्रवेश परीक्षा के आधार पर छात्रों को प्रवेश प्रदान करते हैं, जो उमीदवार इस पाठ्यक्रम को करने के इच्छुक हैं, उन्हें कुल 50% के साथ अपनी 12वी की परीक्षा उत्तीर्ण करनी होती है, और अन्य पिछड़ा वर्ग के लिए 45% के साथ अपनी 12वी की परीक्षा उत्तीर्ण करनी होती है । यह पूरा करने के बाद शिक्षक /शिक्षिका प्राथमिक विद्यालय (Class 1 to 5) के विद्यार्थीओ को पढ़ाने में समर्थ होते है।
[12:18 PM, 3/5/2022] Deepak New N: JBT के लिए महत्वपूर्ण जानकारी:-

Duration अवधि  2 Years

Type प्रकार  Diploma

Eligibility योग्यता  (10+2 ) or Equivalent

Fees फीस 5000 से 30000 प्रति सेमेस्टर संस्थान पर निर्भर करता है

Admission Process प्रवेश प्रक्रिया मेरिट या प्रवेश आधारित संस्थान पर निर्भर करता है

Age उम्र 17 से 28 वर्ष के बीच होनी चाहिए।

 

 JBT का फुल फॉर्म 

जूनियर बेसिक ट्रेनिंग है (Junior Basic Training)

D.Ed का फुल फॉर्म 

डिप्लोमा इन एजुकेशन है (Diploma in Education)

 

 जेबीटी कोर्स में क्या-क्या पढ़ाया जाता है :-

• Understanding Child and Learning Process

• Education Technology

• Teaching of Hindi

• Teaching of English

• Teaching of Mathematics

• Teaching of Social Studies

• Teaching of Environmental Science

 

 

JBT कोर्स के बाद नौकरी :-

 

1. आप किसी स्कूल या कॉलेज में नौकरी ले सकते हैं।

2. आप कोचिंग सेंटर में शिक्षक के रूप में पढ़ा सकते हैं।

3. आपको लाइब्रेरी में रोजगार मिल सकता है।

4. आप किसी बच्चों के देखरेख केंद्र में रोजगार प्राप्त कर सकते है।

5.आप किसी सरकारी कार्यालय में जॉब कर सकते है।

 

Best JBT College in India

Vidya Training Institute ( Delhi)

• City College of BTC. ( Lucknow)

• Hindu Teacher Training ( Haryana)

• Gandhi Shanti Niketan Mahavidyalaya
( Kanpur )

• Chaudhary Charan Singh University
(Meerut)

• NSDC Training Partner
( Mumbai)

 

 

 

 N.T.T

(एन.टी.टी) कोर्स यानि नर्सरी टीचर ट्रेंनिग कोर्स सरकारी/प्राइवेट शिक्षण संस्थानं में प्री. प्राइमरी स्तर के विद्यार्थियों को शिक्षण प्रदान करने हेतु किया जाता है। 2010 के बाद N.T.T के पाठ्यक्रम को एक व्यवसायिक कोर्स के तहत पढ़ाया जाता है जिसे ECCE (Early Childhood Care & Education) के नाम से जाना जाता है।

 

नर्सरी टीचर ट्रेनिंग (NTT) कोर्स कराने वाले कुछ संस्थान निम्नलिखित हैं:-

1.दिल्ली महिला कॉलेज (दिल्ली)

2.इंदिरा गाँधी नेशनल ओपन यूनिवर्सिटी (दिल्ली)

3.भारतीय शिक्षा परिषद्, उत्तर प्रदेश, (लखनऊ)

 

 

more useful links 

B.Ed क्या है ? | B.Ed कोर्स कैसे करें

Leave a Reply

Your email address will not be published.