अध्याय 13: गति एवं समय | Speed and Time

Spread the love

❍ गति :- समय के साथ किसी वस्तु की स्थिति में परिवर्तन को गति कहते हैं। प्रथ्‍वी का सूर्य के चारो ओर परिक्रमा करने की गति
 • वर्तुल गति , आवर्ती गति , घूर्णन गति तीन प्रकार की गतियाँ है।

❍ चाल :- किसी वस्तु द्वारा एकांक समय में तय की गई दूरी को उसकी चाल कहते हैं। चाल से हमें पता चलता है कि कौन तेज चल रहा है।

               कुल तय की गई दूरी
चाल = ————————-

             कुल लिया गया समय

❍ समय की माप :- बहुत ही घटनाएँ , निश्चित अंतरालों के पश्चात स्वयं दोहराती हैं।

सूर्योदय – एक दिन
अमावस्या – एक महीना
पृथ्वी की परिक्रमा – एक वर्ष

 ○घड़ियों में आवर्ती गति का उपयोग किया जाता है।

○ सरल लोलक :- एक सिरा दृढ आधार से बंधा हो और दुसरे सिरे पर यदि एक बिंदु द्रव्यमान को लटका दिया जाए तो इस प्रकार की व्यवस्था को सरल लोलक कहते है।

 ○ लोलक :- किसी खूंटी से लटके ऐसे भार को लोलक कहते हैं यदि कोई पिंड आवर्त गति करते हुए एक निश्चित पथ पर किसी निश्चित बिंदु के सापेक्ष इधर-उधर गति दोलन गति कहते हैं।

○ आवर्तकाल :- सरल लोलक एक दोलन पूरा करने में जितना समय लगाता है।

 • प्रचीन काल :- संसार के विभिन्न भागों में समय मापन के लिए बहुत-सी युक्तियों का उपयोग किया जाता था। धूपघड़ी , रेत-घड़ी , जल-घड़ी आदि । जंतरमंतर , नई दिल्ली में धूपघड़ी है।

○ चाल मापना :- किसी वस्तु द्वारा एकांक समय में तय की गई दूरी को चाल कहते हैं। चालमापी :- मीटर के कोने में km/h लिखा होता है।

• पाथमापी :- वाहन द्वारा तय की गई दूरी को मापता है।

 

 ○ दूरी-समय :– किसी पिण्ड द्वारा तय की गई कुल दूरी तथा उस दूरी को तय करने में लगे कुल समय के अनुपात को उस पिण्ड की औसत चाल कहते हैं।

○ चाल :- किसी व्यक्ति/यातायात के साधन द्वारा इकाई समय में चली गई दूरी, चाल कहलाती हैं।

चाल का सूत्र : चाल = दूरी / समय

 

○ दूरी :- किसी व्यक्ति/यातायात के साधन द्वारा स्थान परिवर्तन को तय की गई दूरी कहा जाता हैं।

दूरी का सूत्र : दूरी = चाल × समय

 

○ समय :- किसी व्यक्ति/यातायात के साधन द्वारा इकाई चाल से चली गई दूरी, उसके समय को निर्धारित करती हैं।

समय का सूत्र : समय = दूरी / चाल

 ○ वस्तुओं की गति को उनको दूरी-समय ग्राफ़ द्वारा चित्रात्मक रूप में प्रस्तुत किया जा सकता है।
 ○ भारतवर्ष में समय अनुरक्षण सेवा , नई दिल्ली की राष्ट्रीय भौतिकी प्रयोशाला द्वारा प्रदान की जाती है।

 

 

 

अध्याय 14 विधुत धारा और इसके प्रभाव | Electric Current and its Effects

Leave a Reply

Your email address will not be published.