राष्ट्रीय आंदोलन में योगदान ( उत्तर प्रदेश सामान्य ज्ञान )

Spread the love

राष्ट्रीय आंदोलन में योगदान

भारत के राष्ट्रीय आंदोलन में उत्तर प्रदेश का बड़ा महत्वपूर्ण योगदान रहा है इस प्रदेश के इलाहाबाद आगरा फतेहपुर सीकरी कन्नौज आधी नगर विभिन्न कालो में अनेक राजाओं की राजधानी रहे सन् 1857 के प्रथम स्वतंत्र संग्राम में

इस प्रदेश की बड़ी महत्वपूर्ण भूमिका रही तथा अंग्रेजी शासन से देश को मुक्त कराने में इस देश के लोगों ने बड़े महत्वपूर्ण कार्य किए जिसके परिणाम स्वरूप 1947 ईस्वी में देश को अंग्रेजी शासन की दासता से मुक्ति मिली और भारत स्वतंत्र हो गया ।

राष्ट्रीय आंदोलन से संबंधित प्रमुख तथ्य

* उत्तर प्रदेश के मेरठ शहर में 10 मई 1857 को प्रथम स्वतंत्र संग्राम का आरंभ हुआ था ।

* कानपुर में 1857 में क्रांतिकारियों का नेतृत्व नाना साहब ने किया था।

*लखनऊ में 1857 की क्रांति का संचालन मौलवी अहमद शाह और बेगम हजरत महल ने किया था।

 

* 1905 में कराओ कांग्रेस का अधिवेशन उत्तर प्रदेश के बनारस शहर में हुआ था इसकी अध्यक्षता श्री गोपाल कृष्ण गोखले ने की थी।

* अंग्रेज सेनापति ह्रयूरोज को उत्तर प्रदेश के बुंदेलखंड क्षेत्र की क्रांति के दमन का कार्य सौंपा गया था ।

* पूर्वी उत्तर प्रदेश में अंग्रेजों के विरुद्ध विद्रोह का नेतृत्व कुंवर सिंह ने किया था।

 

* उत्तर प्रदेश के गोरखपुर नगर पर नाजिम मीर मोहम्मद हसन ने 21 सितंबर 1857 को अधिकार कर स्वतंत्रता की घोषणा की थी।

* प्रदेश में गोरखपुर के समीप स्थित चौरी – चौरा हत्याकांड 5 फरवरी 1922 को हुआ था।

* उत्तर प्रदेश में काकोरी षडयंत्र ,कांड 25 अगस्त 1925 को हुआ था।

 

* उत्तर प्रदेश के किसान आंदोलन का नेतृत्व पं जवाहरलाल नेहरू ने किया था।

* उत्तर प्रदेश का वर्तमान नाम 12 जनवरी 1950 को पड़ा था

* उत्तर प्रदेश भारतीय गणतंत्र का एक पूर्ण राज्य 26 जनवरी 1950 को बना था

* प्रदेश में जमीदारी प्रथा का उन्मूलन और भूमि सुधार अधिनियम 26 जनवरी 1951 को लागू हुआ।

Leave a Reply

Your email address will not be published.