किसान क्षेत्र में विभिन्न योजनाएं | Haryana GK

Spread the love

किसान क्षेत्र में विभिन्न योजनाएं

• किसानों की खुशहाली के लिए रिवाल्विंग कैश क्रैडिट स्कीम तथा कृषि उपहार योजना जैसे अनूठी स्कीम शुरू की गई है ज्वार गर्म और शुष्क भागों में साधारण वर्ष वाले क्षेत्रों में चित्र में उगाई जाती है

• हरियाणा राज्य सहकारी कृषि एवं ग्रामीण विकास बैंक भूमि खरीद के लिए ॠणा सीमा ₹2 लाख से बढ़ाकर ₹10लाख कर दी गई । गैर-कृषि ॠणों की सीमा₹10 लाख से बढ़ाकर ₹15 लाख कर दी गई है।

• कृषि पैदावार के क्षेत्र में जिला स्तर पर उत्कृष्ट स्थल प्राप्त करने वाले किसान को ₹25000 और राज्य उत्कृष्ट स्थल प्राप्त करने वाले किसान को एक लाख रुपए के जननायक चौधरी देवीलाल पुस्तकार से सम्मानित किया जाता है

• राज्य सहकारी ने सहकारीचीनी मिलों के लिए सघन विकास योजना के अंतर्गत ₹20=63 करोड़ का प्रावधान किया है इस योजना का उद्देश्य किसानों के उन्नत बीच उपलब्ध करवाना तथा उन्नत बीजों की पौधशालाएं तैयार करना है।

• हरियाणा राज्य कृषि विपणन बोर्ड द्वारा 2 अक्टूबर 2000 से गांधी जयंती पर किसानों के लाभार्थी कृषक उपहार योजना शुरू की गई है।

 

 राज्य के प्रमुख फल एवं उत्पादन क्षेत्र

•आम- अम्बाला, कुरुक्षेत्र, करनाल, पंचकुला, यमुनानगर
• अमरुद- करनाल, सोनीपत, फरीदाबाद, हिसार, गुड़गांव
• पपीता- यमुनानगर, करनाल, पंचकुला, कुरूक्षेत्र, अम्बाला
• बेर- सोनीपत, गुड़गांव, हिसार, फतेहाबाद, रोहतक
• ऑंवला- गुड़गांव, सिरसा, हिसार, करनाल, फरीदाबाद, अम्बाला

राज्य की प्रमुख सब्जियाॅं एवं उत्पादन क्षेत्र

• आलू- कुरूक्षेत्र, यमुनानगर, अम्बाला, करनाल
• प्याज- गुड़गांव, सोनीपत, पानीपत, पंचकुला
• फुलगोभ- सोनीपत, पानीपत, यमुनानगर, करनाल, गुड़गांव, कुरूक्षेत्र

राज्य के प्रमुख मसालें एवं उत्पादन क्षेत्र

• हल्दी- यमुनानगर, कुरूक्षेत्र, अम्बाला, पंचकुला
• मिर्च- यमुनानगर, करनाल, हिसार, फरीदाबाद,जीन्द
• लहसुन- करनाल, यमुनानगर, फतेहाबाद, गुड़गांव, हिसार,सिरसा
• धनिया- कुरूक्षेत्र, करनाल, गुड़गांव, पंचकुला, अम्बाला
• मेथी- हिसार, महेंद्रगढ़,जीन्थ

 राज्य के प्रमुख फूल एवं उत्पादन क्षेत्र

• गुलाब- पानीपत, सोनीपत, गुड़गांव, कैथल
• गेंदा- गुड़गांव, सोनीपत, झज्जर, फरीदाबाद,जीन्द
• रजनीगन्दा- फरीदाबाद
• ग्लैडियोलस- फरीदाबाद, करनाल, गुड़गांव, पंचकुला

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.