उत्तर प्रदेश की प्रमुख नहरें | Canal UP GK

Spread the love

उत्तर प्रदेश की प्रमुख नहरें

 

* शारदा नहर :- यह उत्तर प्रदेश की सर्वाधिक लंबी नहर है यह उत्तर प्रदेश नेपाल सीमा के समीप गोमती नदी के किनारे बनबसा नामक स्थान से निकाली गई है शाखा -प्रशाखा सहित इस नहर की कुल लंबाई 12,368 किलोमीटर है |

 

* निचली गंगा नहर :- यह नहर बुलंदशहर जिले के नरौरा नामक स्थान से निकाली गई है | मुख्य नहर ,शाखाओं व प्रशाखाओ सहित इस नहर की कुल लंबाई 8,800किलोमीटर है |

 

* ऊपरी गंगा नहर :- यह लहर गंगा नदी के दाहिने किनारे से हरिद्वार के समीप से निकाली गई है | इस नहर की लंबाई 340 किलोमीटर है परंतु शाखाओ प्रशाखाओ सहित कुल लंबाई 5640 किलोमीटर है |

 

* आगरा नहर :- यह नहर दिल्ली से 18 किलोमीटर दक्षिण में यमुना नदी के दाएं किनारे से ओखला नामक स्थान से सन 1857 में निकाली गई थी | इस नहर की शाखाओं और प्रशाखाओ सहित कुल लंबाई 1600 किलोमीटर है

 

* बेतवा नहर :- यह नहर बेतवा नदी में से झांसी से 24 किलोमीटर दूर पारीछा नामक स्थान से निकाली गई है | यह 1885 में बनाई गई थी |

 

* सपरार नहर :- यह नहर झांसी के मऊरानीपुर से 8 किलोमीटर दक्षिण की ओर क करौंदा गांव के निकट से सपरार नदी पर बने बांध से निकाली गई है इसके द्वारा झांसी व हमीरपुर जिलो की लगभग 40 हजार एकड़ भूमि की सिंचाई होती है|

 

* रानी लक्ष्मीबाई बांध नहर :- झांसी जिले में बेतवा नदी पर माता टीला स्थान पर निर्मित माता टीला बांध से गुरसराय और मंदर नामक दो नहरे निकाली गई हैं जो हमीरपुर और जालौन जिलों की लगभग 2.64लाख एकड़ भूमि सींचती है |

 

* नगवा बांध नहर :- कर्मनाशा नदी पर नगवा स्थान पर बने बांध से नहर निकाली गई है जो मिर्जापुर वा सोनभद्र जिलों की 60,000 एकड़ भूमि सींचती है |

 

* बेलन टौंस नहर योजना :- टौंस की सहायक नदी बेलन पर रीवा जिले (मध्य प्रदेश) में बरोधा बांध और बेलन की सहायक मनोहर नदी पर एक जलाशय बनाया गया है | इससे निकाली गई बेलन नहर द्वारा इलाहाबाद जिले की 1,00000 एकड़ भूमि सींची जाती है

 

* रगॅबा बांध नहर :- केन की सहायक वरर्ने नदी पर मध्यप्रदेश में रगवा बांध बनाया गया है जिससे निकाली गई नहर से केन नहर को भी पानी मिलता है और बांदा जिले की 93,000 एकड़ भूमि की सिंचाई की जा रही है |

 

* पूर्वी यमुना नहर :- पूर्वी यमुना नगर सहारनपुर जिले के फैजाबाद नाम स्थान से निकट यमुना नदी के बाएं किनारे से 1831 में निकाली गई थी इस नहर की शाखाओं सहित लंबाई 1440 किलोमीटर है |

 

* केन नहर :- यह नहर यमुना की सहायक केन नदी से पन्ना (मध्य प्रदेश) के निकट से निकाली गई है इसकी शाखाओं और प्रशाखाऔ सहित लंबाई 640 किलोमीटर है |

 

* धसान नहर :- यह नहर बेतवा की सहायक धसान नदी से निकाली गई है इसके द्वारा हमीरपुर जिले की भूमि सीची जाती है |

 

* घागरा नहर :- यह नहर सोन नदी की सहायक घाघरा नदी से निकाली गई है इस नहर से मिर्जापुर व सोनभद्र जिलों की भूमि सींची जाती है

 

* ललितपुर बांध की नहर :- ललितपुर जिले की सहजाद नदी पर ललितपुर बांध बनाया गया है जिससे नहर निकाली गई है

 

* अर्जुन बांध की नहर :- हमीरपुर जिले में खरखारी से 2 किलोमीटर दक्षिण में अर्जुन नदी पर अर्जुन बांध बनाया गया है |इस बांध से नहर निकाली गई है

 

 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.